Friday, December 16, 2011

KAPOL VAISHYA - कपोल वैश्य गुजरात कि प्रमुख वैश्य जाति

कपोल सोराथिया वैश्य गुजरात कि एक प्रमुख वैश्य वनिया जाति हैं. कपोलो कि उत्पत्ति के बारे में एक संकृत ग्रन्थ कुंडल पुराण में कहा जाता हैं कि, राजा मंधक उत्तर भारत में राज करते थे, उन्होंने तीर्थ यात्रा पर जाने का कार्य क्रम बनाया, वह कनवा ऋषि के आश्रम में पहुंचे, जो कि सौराष्ट्र के प्रभाष पाटन में स्थित था. राजा मंधक ने वहा पर एक नया नगर बसाया , राजा ने ऋषि के द्वारा एक महा यज्ञ कराया, जो वैश्य उस नगर में बसे थे वह कपोल कहलाये, और जो सोराथ से आकार के बसे थे वे सोरठिया कहलाये. वह नगर कुण्डलपुर कहलाया. 

मुख्य उप नाम 

* कन्किया

* वालिया

* चितालिया

* गाँधी

* मोदी

* श्रोफ

* दलाल

* मेहता

* गोरडिया

* पारेख

* झवेरी

* नानावती

* संघवी

* जंगिया

* कपाडिया

* लहेरी

* शाह

* देसाई

* भुवा

* दोषी

* शेठ

..

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।