Tuesday, May 22, 2012

LAXMI MITTAL 'STEEL MAN OF INDIA' - लक्ष्मी मित्तल


दुनिया की सबसे बड़ी स्टील कंपनी आर्सेलर मित्तल के सीईओ लक्ष्मी नारायण मित्तल उर्फ लक्ष्मी निवास मित्तल की गिनती दुनिया के सबसे अमीर लोगों में होती है। मार्च 2013 में उनकी संपत्ति लगभग 10.74 खरब रुपये थी। लक्ष्मी मित्तल ब्रिटेन में रहते हैं लेकिन नागरिकता उन्होंने अभी भी भारत की बनाए रखी है। अपने बिजनेस के अलावा लक्ष्मी मित्तल दुनिया के सबसे महंगे मकानों में रहने के लिए मशहूर हैं। ब्रिटेन के किंग्सटन पैलेस गार्डंस में आलीशान मकान खरीदने के लिए उन्होंने 2004 में 8.33 अरब रुपये खर्च किए थे। इस मकान को सजाने में जिस संगमरमर का इस्तेमाल किया गया, उसे उसी खदान से मंगाया गया जहां से ताजमहल के लिए पत्थर निकाला गया था। इसीलिए इसे ताज मित्तल भी कहा जाता है। 

राजस्थान में हुआ जन्म : 


लक्ष्मी मित्तल का जन्म 2 सितंबर, 1950 को राजस्थान के चुरू जिले की राजगढ़ तहसील में हुआ था। वह संयुक्त परिवार में पैदा हुए, बाद में उनका परिवार कोलकाता चला गया। मित्तल के दो भाई हैं प्रमोद मित्तल और विनोद मित्तल। लक्ष्मी मित्तल के पिता मोहन लाल मित्तल ने एक स्टील कंपनी में हिस्सेदारी की जिससे उन्हें काफी लाभ हुआ। मित्तल ने 1969 में कोलकाता के सेंट जेवियर्स कॉलेज से बिजनेस ऐंड अकाउंटिंग में गैजुएशन की। 


फैमिली बिजनेस से शुरूआत : 

लक्ष्मी मित्तल ने अपने परिवार के स्टील बनाने के कारखाने से करियर की शुरूआत की। 1976 में उन्होंने इसके इंटरनेशनल डिविजन की स्थापना की और इंडोनेशिया में एक स्टील प्लांट खरीदा। लेकिन 1994 में परिवार से मतभेद हो गया और उन्होंने अपना अलग बिजनेस शुरू किया। मार्च 2008 में फोर्ब्स मैगजीन ने लक्ष्मी मित्तल को दुनिया के चौथे सबसे धनी शख्स का खिताब दिया। लक्ष्मी एशिया के सबसे धनी इंसान बताए गए। 

इस समय लक्ष्मी मित्तल आर्सेलर मित्तल स्टील कंपनी के सीईओ और चेयरमैन हैं। इसके अलावा वह ईएडीएस, आईसीआईसीआई बैंक और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी गोल्डमैन सैक्स के नॉन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर भी हैं। 2008 में उन्हें भारत सरकार की ओर से पद्म विभूषण की उपाधि दी गई। 

खेलों का खास ख्याल :

2000 के समर ओलिंपिक्स में भारत को महज एक ब्रॉन्ज मेडल मिला। भारत के ऐसे निराशाजनक प्रदर्शन के बाद लक्ष्मी मित्तल ने भारतीय खेलों को सपोर्ट करने की ठान ली। उन्होंने भारत से 10 वर्ल्ड क्लास एथलीट तैयार करने के लिए लगभग 60 करोड़ रुपये खर्च करने का ऐलान किया। इसके लिए उन्होंने मित्तल चैंपियन ट्रस्ट बनाया। 2008 ओलिंपिक में जब अभिनव बिंद्रा ने निशानेबाजी में भारत का पहला व्यक्तिगत गोल्ड मेडल जीता तो मित्तल ने उन्हें 1.5 करोड़ रुपये देकर प्रोत्साहित किया। मित्तल ने 2012 के लंदन ओलिंपिक्स के मौके पर ओलिंपिक पार्क टावर पर करोड़ों खर्च किए। 

आलीशान मकान : 

मित्तल फिलहाल ब्रिटेन में 18-19 किंग्सटन पैलेस गार्डंस में रहते हैं। उन्होंने इसे फॉर्म्युला वन रेस के बॉस बर्नी एक्लेस्टोन से खरीदा था। यह उस समय का सबसे महंगा मकान था। इसमें 12 बेडरूम, एक इनडोर पूल, टर्किश बाथ और 20 कारों के लिए पार्किंग है। इसके अलावा मित्तल ने अपनी बेटी की शादी में 9ए पैलेस ग्रीन नाम का बंगला गिफ्ट किया जो पहले फिलीपींस की ऐंबेसी के तौर पर इस्तेमाल हो रहा था। लक्ष्मी मित्तल ने नई दिल्ली में औरंगजेब रोड पर भी एक बंगला खरीदा है। 

साभार: नवभारत टाईम्स. 

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।