Monday, December 30, 2013

दो - दो वैश्य नेताओ की हुंकार

"यूँ तो भारत वर्ष में वैश्य समुदाय से जुड़े राजा महाराजा पहले से ही रहे है।  और उनके काल में भारत सोने की चिड़िया भी कहलाया है।  जैसे कि चन्द्र गुप्त मौर्य, सम्राट अशोक, चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य, समुद्रगुप्त, हर्षवर्धन, यशोवर्धन, हेमू विक्रमादित्य आदि।  बाद में  महात्मा गांधी,   जो की देश की  बागडोर सम्भाल सकते थे।  अब काफी समय बाद ऐसा समय आया हैं, प्रधानमन्त्री पद के लिए एक और नरेंद्र भाई मोदी, जो की तैलिक वैश्य समुदाय,  जिसे की  गुजरात में घांची कहा जाता है।  उस समुदाय से ताल्लुक रखते है।  दूसरी ओर अरविन्द केजरीवाल , जो की अग्रवाल समुदाय से सम्बंधित है।  केजरीवाल का उदय भी भारत कि राजनीति में एक आने वाले अच्छे समय का प्रतीक है। आइये हम  सभी वैश्य बंधू अपने इन भाइयो कि सफलता कि कामना करे। वन्देमातरम।"

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।