Wednesday, June 18, 2014

माहेश्वरी समाज की कुलदेवियाँ

माहेश्वरी युवा मंच सीकर द्वारा प्रकाशित स्मारिका इन्द्रधनुष तथा माहेश्वरी सेवक पत्रिका में इस समाज की कुलदेवियों का विवरण प्रकाशित हुआ है।

कुलदेवी उपासक खांप (सामाजिक गोत्र)

1. आमल माता - कांकाणी।

2. आशापूरा (आशावरी) माता - चाण्डक, तापडिय़ा।

3. खाण्डल माता - बंग।

4. खींवज माता - भूतड़ा।

5. खूंखर माता - तोतला, तोषनीवाल।

6. गायल माता - झंवर, बजाज।

7. चावंड (चामुण्डा) माता - कलंत्री, कालाणी, गट्टानी, भंसाली, लाहोटी, पलोड़, मोदानी,सिकची, टावरी।

8. जाखण माता - आगसूड, मानधन्या।

9. जीणमाता - चौखड़ा, सोढ़ानी।

10. जैसल माता - इनाणी।

11. दधिमथी (दधवंत) माता - चेचाणी, मणियार, बाहेती, डागा, असावा।

12. धरजल माता - नावंधर।

13. धोलेश्वरी माता - मण्डोवरा।

14. नागणेचिया माता - दरगड़, भण्डारी।

15. नौसर माता - खटोड़, अजमेरा।

16. पाढाय माता - कचौलिया, खटवड़, गगराणी, नौलखा, बिदादा।

17. फलौदी माता - जाजू, धूपड़, हेड़ा।

18. बन्धर माता - सोमाणी।

19. बिस्वन्त माता - हुरकुट।

20. बीसल (भादरिया) माता - भट्टड़।

21. भद्रकाली माता - डाड, बूब।

22. भैसादमाता - आगीवाल।

23. मात्री माता - गिलड़ा, परवाल, पोरवाल।

24. मूसा माता - दरक।

25. मूंणधनी माता - भूराडिय़ा।

26. मूंदल माता - मूंधड़ा।

27. लिकासन माता - काहल्या, धूत।

28. संचाय (सच्चियाय) माता - बियाणी, करवा, अटल, कासट, डागा, परताणी, बांगड़, मालू, मंत्री, रांधड़, राठी, लड्ढा, लखोटिया, सारड़ा, सिकची, बिड़ला।

29. सांगल माता - मालपाणी, जावदिया।

30. सिसणाय माता - जाखेटिया।

31. सुद्रासनमाता - झंवर।

32. सुषमाद माता - काबरा।

33. सेवल्या माता - सोनी।

34. हिंगलाज माता - बलदवा, पेड़ीवाल।


No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।