Friday, August 8, 2014

खण्डेलवाल समाज (वैश्य) की कुलदेवियाँ

खण्डेलवाल वैश्य तीर्थस्थान पत्रिका एवं श्री मोतीलाल गुप्त की पुस्तक खण्डेलवाल जाति का प्रारम्भिक इतिहास में खण्डेलवाल वैश्य समाज की कुलदेवियों का विवरण निम्नानुसार प्रकाशित है-

कुलदेवी उपासक सामाजिक गोत्र

1. अमरल (नोसल) माता - मेठी।

2. अमवासन (ढकवासन) माता - मांगोलिया (मंगोडिया)।

3. आमण माता - आमेरिया, भुकमारिया।

4. आंतेलमाता - कट्टा, टौडवाल, नेनीवाल।

5. ओरलमाता - रावत (राज)।

6. कनकसमाता - कौडिया।

7. कपासनमाता - खुंटेटा।

8. कुरसड़माता - नैनामा, भुगा, सोंखिया।

9. कोलाइनमाता - बाजरगान।

10. खींवजमाता - खटरावत।

11. नीमवासिनीमाता - बीमवाल (खाडिय़ा सोनी)।

12. चामुंडामाता - महरवाल, सामरिया, सींगोदिया।

13. जमवायमाता - बढेरा।

14. जीणमाता - कायथवाल, कासलीवाल, खारवाल, टटार, तमोलिया, दुसाद, नखरिया, नाटाणी, पाटोदिया, मंडारिया, लाभी, सांखूनिया, सोनी, शरहरा।

15. डावरिमाता - धोकरिया।

16. तिलीधेहड़ माता - आकड़।

17. नागनमाता - ताम्बी, बुढवारिया।

18. धावड़माता - झालानी।

19. नन्दभगोनी माता - किलकिलिया।

20. नावड़माता - ओढ़, केदावत।

21. बड़वासनमाता - पीतलिया।

22. बतवीरमाता - माठा।

23. बमूरीमाता - घीया, चावरिया, जसोरिया, ठाकुरिया, निरायणवाल, फरसोहिया, बनावरी।

24. बिनजिलमाता - डांस।

25. बिरहिलमाता - गोल्या।

26. भंवरकठेर माता - खटोरिया।

27. मंडेरमाता - पाबूवाल।

28. माखदमाता - बैद, सेठी।

29. मितरमाता - काठ।

30. वक्रमाता - नैनावा, बटवाड़ा।

31. सकराय माता - डंगायच।

32. समगरामाता - बसोंदरिया, सिरोहिया।

33. सरसामाता - बड़ाया, बावरिया, बूसर, माली।

34. सारमाता - बनाउड़ी, माचीवार।

35. सावरदेमाता - बम्ब।

36. सारंगदेमाता - मानिक बोहरा।

37. सरूंडमाता - अटोलिया, कूलवाल, गोंदराजिया, जंघीनिया, पचलोरा(बडग़ोती),मामोडिय़ा, हल्दिया।

38. सेंतलवास माता - धामानी, भांगला, राजोरिया।


खण्डेलवाल वैश्य तीर्थस्थान पत्रिका एवं श्री मोतीलाल गुप्त की पुस्तक खण्डेलवाल जाति का प्रारम्भिक इतिहास में खण्डेलवाल वैश्य समाज की कुलदेवियों का विवरण निम्नानुसार प्रकाशित है-

कुलदेवी उपासक सामाजिक गोत्र

1. अमरल (नोसल) माता - मेठी।

2. अमवासन (ढकवासन) माता - मांगोलिया (मंगोडिया)।

3. आमण माता - आमेरिया, भुकमारिया।

4. आंतेलमाता - कट्टा, टौडवाल, नेनीवाल।

5. ओरलमाता - रावत (राज)।

6. कनकसमाता - कौडिया।

7. कपासनमाता - खुंटेटा।

8. कुरसड़माता - नैनामा, भुगा, सोंखिया।

9. कोलाइनमाता - बाजरगान।

10. खींवजमाता - खटरावत।

11. नीमवासिनीमाता - बीमवाल (खाडिय़ा सोनी)।

12. चामुंडामाता - महरवाल, सामरिया, सींगोदिया।

13. जमवायमाता - बढेरा।

14. जीणमाता - कायथवाल, कासलीवाल, खारवाल, टटार, तमोलिया, दुसाद, नखरिया, नाटाणी, पाटोदिया, मंडारिया, लाभी, सांखूनिया, सोनी, शरहरा।

15. डावरिमाता - धोकरिया।

16. तिलीधेहड़ माता - आकड़।

17. नागनमाता - ताम्बी, बुढवारिया।

18. धावड़माता - झालानी।

19. नन्दभगोनी माता - किलकिलिया।

20. नावड़माता - ओढ़, केदावत।

21. बड़वासनमाता - पीतलिया।

22. बतवीरमाता - माठा।

23. बमूरीमाता - घीया, चावरिया, जसोरिया, ठाकुरिया, निरायणवाल, फरसोहिया, बनावरी।

24. बिनजिलमाता - डांस।

25. बिरहिलमाता - गोल्या।

26. भंवरकठेर माता - खटोरिया।

27. मंडेरमाता - पाबूवाल।

28. माखदमाता - बैद, सेठी।

29. मितरमाता - काठ।

30. वक्रमाता - नैनावा, बटवाड़ा।

31. सकराय माता - डंगायच।

32. समगरामाता - बसोंदरिया, सिरोहिया।

33. सरसामाता - बड़ाया, बावरिया, बूसर, माली।

34. सारमाता - बनाउड़ी, माचीवार।

35. सावरदेमाता - बम्ब।

36. सारंगदेमाता - मानिक बोहरा।

37. सरूंडमाता - अटोलिया, कूलवाल, गोंदराजिया, जंघीनिया, पचलोरा(बडग़ोती),मामोडिय़ा, हल्दिया।

38. सेंतलवास माता - धामानी, भांगला, राजोरिया।

साभार : http://kuldevirajasthan.blogspot.in

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।