Sunday, June 10, 2018

श्रद्धा भंसाली - 26 साल की यह लड़की चलाती है एक अनोखा शाकाहारी रेस्‍तरां

26 साल की यह लड़की चलाती है एक अनोखा शाकाहारी रेस्‍तरां, यहां वही पकता है जो यहां उगता है

हमारे चारों ओर जो कुछ भी हम देखते हैं, गगनचुंबी इमारतों से लेकर हाथों में पकड़े स्मार्टफोन तक, सब एक छोटे से विचार से ही संभव हो पाया है। एक ऐसा विचार जो सरल और अस्तित्वहीन था जब तक कि किसी ने इसे महानता में तब्दील करने का फैसला नहीं किया। आइडिया साधारण ही क्यों न हो उस पर किया जाने वाला रचनात्मक कार्य उसे एक नए स्तर तक ले जाकर असाधारण बना देता है। आज विश्व में जितनी भी समस्याएं हैं उनके समाधान भी मौजूद हैं। लेकिन सारे समाधान साधारण से आइडिया के आवरण में छिपे हैं, जिस पर काम होना बाकी है।


मुंबई की 26 साल की श्रद्धा भंसाली ने एक ऐसा ही तरीका खोज निकाला है स्‍वस्‍थ और खुशहाल रहने का। ‘कैंडी एंड ग्रीन’ रेस्‍तरां की संस्थापिका और मैनेजिंग डायरेक्टर श्रद्धा का यह शाकाहारी रेस्टोरेंट अपने आप में बड़ा अनूठा है। आप भी जानेंगे तो मन ऐसे रेस्‍टोरेंट में एक बार जाने की इच्छा तो अवश्य ही होगी। यहां आने वाले ग्राहकों को परोसा जाने वाला भोजन साधारण नहीं बहुत विशिष्‍ट है। सबसे ख़ास बात यह है कि इस शाकाहारी रेस्टोरेंट में खाने में प्रयोग होने वाली सभी सब्जियां यहीं पर उगाई जाती हैं। 

मुंबई के एक व्यवसायिक घराने से संबंध रखने वाली श्रद्धा ने स्कूल की पढ़ाई के बाद यूनाइटेड स्टेट्स में बोस्टन यूनिवर्सिटी से हॉस्पिटैलिटी और बिज़नेस मैनेजमेंट में स्नातक किया। साल 2014 में मुंबई लौट कर एक पांच सितारा होटल में नौकरी मिलने के बाद भी व्यावसायिक विरासत के गुण श्रद्धा को हमेशा कुछ नया करने के लिए प्रेरित करता था। घर की रसोई में मां को अपने हाथों से खाना बनाते हुए श्रद्धा ने हमेशा देखा कि उनकी मां भोजन की गुणवत्ता का बहुत ध्यान रखती है क्‍योंकि उन्‍हें घर के हरेक सदस्‍य की सेहत की बेहद चिंता रहती है। बस यही संदेश वह लोगों तक अपने व्यापार के जरिए पहुंचाना चाहती थी। वैसे आइडिया तो साधारण था क्योंकि हर भारतीय मां इसी भावना से रसोई घर में खाना बनाती है, लेकिन उस आइडिया को परिवार से बाहर लोगों तक पहुंचाने की मंशा सच में असाधारण थी। और इस असाधारण आइडिया को कारोबार में तब्दील होते देर नहीं लगी।


ऐसा रेस्‍तरां जहां सब्जी उगाई जाए और बनाई भी जाए हालांकि यह चुनौतीपूर्ण था लेकिन श्रद्धा ने इस चुनौती को स्वीकार कर बेहद दिलचस्प तरीके से रेस्तरां के मैन्यू को मौसमी सब्जियों के अनुरूप व्यवस्थित किया और यह आइडिया ग्राहकों को भा गया।

फरवरी 2017 में श्रद़धा ने स्काइबे भूलाभाई देसाई रोड पर स्थित एक इमारत की चौथी मंजिल पर रेस्‍तरां और पांचवी मंजिल पर रेस्‍तरां के सब्जी गार्डन की शुरुआत की। रोचक बात यह है कि यह किचन गार्डन रेस्‍तरां में आने वाले कस्‍टमर्स के देखने के लिए भी खुला है। यह लोगों के लिए एक नया प्रयोग है जिसे वह खूब पसंद कर रहे हैं।

आज यह रेस्‍तरां देश भर में प्रशंसा का विषय बन गया है। यहां तक कि सीएनबीसी आवाज़ ने इसे ‘भविष्य का बुलंद सितारा’ नाम दे दिया। फोर्ब्‍स इंडिया 30 अंडर 30 में श्रद्धा के इस प्रयोग की बहुत सराहना की गई। अपने रेस्तरां की बड़ी सफलता के साथ, अब वह आम आदमी की जरूरतों को पूरा करने के लिए एक और रेस्तरां शुरू करने की योजना बना रही हैं। इसके अंतर्गत वह नियमित ग्राहकों को सस्ते दर पर भोजन प्रदान करना चाहती हैं, लेकिन उसी आतिथ्य और गुणवत्ता के साथ।

साभार: 
hindi.kenfolios.com

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।