Tuesday, March 8, 2016

अग्रवाल इतिहास के गौरवपूर्ण निर्माता

मुख्य मंत्री

1. वृष भानू - पेप्सू राज्य‍ के प्रथम उप मुख्य‍ मंत्री - 23 मई 1951 में

मुख्य मंत्री – 12 जनवरी 1955 से 01 नवम्ब र 1956 तक

( PEPSU – पटियाला एंड ईस्ट पंजाब स्टेट यूनियन , यह राज्य 1948 से 1956 तक अस्तित्व में रहा तथा आठ

प्रमुख शहरों को मिलाकर बनाया गया। 1956 में पेप्सू राज्य का विलय पंजाब में हो गया। )

2. श्री मोहन लाल सुखाडिया – राजस्थांन – 13 नवम्बर 1954 से 13 मार्च 1967 तक व 26 अप्रैल 1967

से 9 जुलाई 1971 ( कुल 3364 दिन मुख्य मंत्री रहे )

3. बाबू बनारसी दास गुप्ता – उत्तर प्रदेश – 28 फरवरी 1979 से 17 फरवरी 1980

4. श्री बनारसी दास गुप्त - हरियाणा – दो बार मुख्य– मंत्री । प्रथम – दिसम्बर 1975 ये 30 अप्रैल 1977

तक तथा द्वितीय – 1990 में

5. श्री राम प्रकाश गुप्त - उत्तर प्रदेश - 21.10.1999 से 28.10.2000

6. श्री रामकिशन गुप्ता – पंजाब – 7.7.64 से 5.7.66 तक आप दो साल तक सातवें सी एम रहे।

(आई एन सी (कांग्रेस), एम एल ए. रहे, जालंधर सिटी- नोर्थ ईस्टक)

7. श्री अरविंद केजडीवाल – दिल्ली – पहली बार – 18 दिसम्ब र 2013 से 14 फरवरी 2014 तक तथा

दूसरी बार – 14 फरवरी 2015 से अब तक

राज्य पाल

1. पद्मविभूषण श्री धर्मवीर – पंजाब-हरियाणा – 1966 – 67 तक , पश्चिमी बंगाल – 1967 से 1969 तक ,

मैसूर (कर्नाटक) – 1969 से 1972 तक

2. पद्मविभूषण श्री श्री प्रकाश - असम – 1949 से 1950 तक, मद्रास – 1952 से 1956 तक तथा मुंबई व

महाराष्ट्र – 1956 में

( मुंबई के राज्यपाल रहते हुए आपने बडी कुशलता से महाराष्ट्र और गुजरात दो राज्यों की स्थापना करवाकर

आंदोलन को राहत प्रदान की )

3.श्री राम प्रकाश गुप्त – मध्य् प्रदेश – 07 मई 2003 से 01 मई 2004 तक

4. श्री सुदर्शन अग्रवाल – उत्तराचंल (उत्तराखंड) – जनवरी 2003 व

- सिक्किम – 16 अक्टूुबर 2007 से 08 जुलाई 2008 तक ।

( आप 1972 में राष्ट्रपति चुनाव के प्रभारी बनाए गए, 1986 में भारत सरकार के केबिनेट सचिव रहे।)

5. श्री मोहन लाल सुखाडिया – आंध्रप्रदेश – जनवरी 1976 से 16 जून 1976 तक , तत्प श्चात् तमिलनाडू में

16 जून 1976 से 27 अप्रैल 1977 तक – ( देश के पहले ऐसे राज्यनपाल थे जिन्होंने दिल्ली में सत्ता परिवर्तन

के साथ ही टेलीफोन पर अपने राज्यपाल पद से त्याग पत्र की पेशकश श्री मोरारजी देसाई से की )

6. रघुकुल तिलक - राजस्था्न - 12 मई 1977 से 8 अगस्त 1981 तक

( आप 1958 से 1960 तक राजस्थान लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष भी रहे। )

7.श्री नवरंग लाल टिबडेवाल - राजस्था न (कार्यवाहक राज्यपाल) 1998 में

(राजस्थान के पूर्व मुख्य न्या्याधीश)

8. श्री मन्नानरायण - गुजरात - 26 दिसम्ब्र 1967 से 17 मार्च 1973 तक

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।