Saturday, December 10, 2016

बनि‍यों की ये आदतें उन्‍हें बनाती हैं सबसे अमीर, आप भी जानें क्‍या है इनमें खास

बनि‍यों की ये आदतें उन्‍हें बनाती हैं सबसे अमीर, आप भी जानें क्‍या है इनमें खास


नई दि‍ल्‍ली। बनि‍या-वैश्य-वनिक समाज के लोगों को हमेशा से ही एक सफल कारोबारी माना जाता रहा है। इसमें कोई शक भी नहीं है क्‍योंकि‍ अगर आप देश के सबसे ज्‍यादा अमीरों की लि‍स्‍ट देखेंगे तो आपको बनिया कम्‍युनि‍टी के लोग ही नजर आएंगे। इसमें मुकेश अंबानी से लेकर लक्ष्‍मी नि‍वास मि‍त्‍तल और गौतम अड़ाणी तक शामि‍ल हैं। इस समाज के लोगों के खास कारोबारी सीक्रेट्स हैं जि‍नकी वजह से आज यह पूरी दुनि‍या में अपना कारोबार फैला रहे हैं।

बनि‍या कम्‍युनि‍टी से आए लोग आमतौर पर बि‍जनेस वर्ल्‍ड में राज करते हैं। वह जि‍स कारोबार को शुरू करते हैं वह उसे सफल बना लेते हैं। आइए जानतें हैं कि‍ वह पैसे का इस्‍तेमाल इतने अच्‍छे ढंग से कैसे करते हैं।

जोखि‍म उठाने वाले

कम उम्र में बनि‍या कम्‍युनि‍टी के लोग जोखि‍म उठाने की क्षमता रखना शुरू कर देते हैं। इलाहाबाद में पैदा हुए मनमोहन अग्रवाल ने अपना खुद का बि‍जनेस मात्र 15 साल की उम्र में शुरू कि‍या। उन्‍होंने एक जगह कहा है कि‍ मेरे पि‍ता ने मेरे भीतर कड़े फैसले करने की क्षमता, जोखि‍म उठाने का साहस और कि‍सी भी चीज को करने में अपना 100 फीसदी योगदान देने की आदत को डाला। 8 साल तक छोटा बि‍जनेस करने के बाद उन्‍होंने एक ऑनलाइन कंपनी खड़ी की जि‍से आज येभी.कॉम के नाम से जाना जाता है।

अकाउंट को साफ सुधरा रखना

बनि‍या शब्‍द संस्‍कृत के वाणिज्य शब्‍द से नि‍कला है जि‍सका मतलब कॉमर्स होता है। बनि‍या कम्‍युनि‍टी के लोग अपने बही-खातों (अकाउंटिंग बुक्‍स) को रोजाना अपडेट करते हैं। इन कि‍ताबों को वह चोपडी कहते हैं और बनि‍या कम्‍युनि‍टी के लोग पारंपरि‍क रूप से नई अकाउंट बुक को खोलने के साथ अपने नए साल की शुरुआत दि‍वाली से करते हैं।

पैसा बनाने को मौका नहीं छोड़ना

कारोबार करने वाले लोग कभी भी पैसा कमाने के मौके को नहीं छोड़ते। वह खुद को 24 घंटे और सातों दि‍न बि‍जनेस के साथ जोड़ कर रखते हैं। उनहें मुनाफा बनाने वाले कारोबार की समझ है और वह अपना फोकस बि‍जनेस कभी नहीं हटाते।

लीडरशि‍प स्‍कील

बनि‍या कम्‍युनि‍टी के लोगों में लीडरशि‍प स्‍कील भी काफी अच्‍छी है। वह बि‍जनेस के अलावा दूसरे क्षेत्रों में भी अपनी इस क्‍वालि‍टी को दि‍खाते हैं। इसके दो उदाहरण हमारे सामने हैं एक नरेंद्र मोदी, अमित शाह और दूसरे अरविंद केजरीवाल। दोनों ही पश्‍चि‍म और उत्‍तर भारत की वैश्य व्यापारिक कम्‍युनि‍टी से आते हैं।

भारत के अरबपति‍यों में बनि‍या कम्‍युनि‍टी का कब्‍जा

देश का सबसे ज्‍यादा अमीर व्‍यक्‍ति‍ बनि‍या – मुकेश अंबानी है। मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 21.5 अरब डॉलर है। इसके बाद लक्ष्‍मी मि‍त्‍तल के नाम आता है जि‍नकी नेटवर्थ 21.1 अरब डॉलर है। इसके अलावा, शशि‍ रुइया और रवि‍ रुइया, गौतम अड़ाणी, कुमार मंगलम बि‍ड़ला, अनि‍ल अंबानी और सुनि‍ल मि‍त्‍तल, दिलीप सिंघवी  का नाम आता है।

साभार : MoneyBhaskar | December 09, 2016, 02:59PM IST

15 comments:

  1. सच में अपनी जोखिम और १०० फ़ीसदी योगदान देने की खूबियों के चलते बनिया लोग सफल होते हैं और राज करते हैं ...
    बहुत अच्छी जानकारी ...

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद कविता जी, बिलकुल ठीक कहा आपने .....

    ReplyDelete
  3. Bhut sundar baat h aur ye inspirational h sabke liye

    ReplyDelete
  4. Bhut sundar baat h aur ye inspirational h sabke liye

    ReplyDelete
  5. Bhagvan k do hath.
    Ek haath duniya per
    Aur dusra haath baniya per

    ReplyDelete
  6. Sada jeevan uchcha vichar se bachat adhik or kharch kam hota h, sath hi imandari se network or selling badti hi jati h.

    ReplyDelete
  7. Bat sahi h hamlog baniya jati apne kshetr me hamesa mehnat karte h

    ReplyDelete
  8. बनिया लोग बहुत कंजूस होते है हर जगह भावटाव करते है हॉस्पिटल मे शांपीग मॉल मे भावटाव नही करते कितु फूटपाथ पर व्यवसाय करने वाले गरीब व्यकती से भावटाव करते है उसी का मजाक उडाते है मेरा सलाम है उस बनीया को जो शीषित हो के भी अशीषित है मेरा नमन उस बनीया को 🙏🙏🙏🙏🙏

    ReplyDelete
  9. SAMAJ SEWA KYA HAI? DESH SEWA KYA HOTA HAI ?
    EMANDARI SE APNA JIWAN WYAPAN KARNA, MEHNAT, MAJDURI KARKE APNA & APNE PARIWAR KA JIWKOPARJAN KARNA BHI DESH SEWA, OR SAMAJ SEWA HOTA HAI. JO KI BANIYA SAMAJ HAMESHA SE KARTA CHALA AA RAHA HAI. BANIYA KA BACCHA KABHI BEKAR NAHI HOTA.

    ReplyDelete
  10. SAMAJ SEWA KYA HAI? DESH SEWA KYA HOTA HAI ?
    EMANDARI SE APNA JIWAN WYAPAN KARNA, MEHNAT, MAJDURI KARKE APNA & APNE PARIWAR KA JIWKOPARJAN KARNA BHI DESH SEWA, OR SAMAJ SEWA HOTA HAI. JO KI BANIYA SAMAJ HAMESHA SE KARTA CHALA AA RAHA HAI. BANIYA KA BACCHA KABHI BEKAR NAHI HOTA.

    ReplyDelete
  11. I VINEET JAISWAL, MA. SOCIOLOGY FROM MGKVP, VARANASI, MOB. 7007191150, FROM VARANASI

    VAISHYA HISTORY ME PATA CHALTA HAI: GUPTA VAISYA CAST KI UPJATI V UPNAM HAI.
    VAISHYA CAST AJJ DESH OR SAMAJ ME KAI NAMO V UPNAMO V UPJATI SE JANA JATA HAI.
    HAMARA CAST ME SABSE BADI PROBLEM : LOGO KA KAM EDUCATED HONA & EDUCATION PER JYADA FOKAS KA NA HONA HAMARE PICHDANE KA SABSE BADA KARAN HAI.

    AJJ KE DATE ME HAMARE SAMAJ KA KOI BHI, GOVT. SERVICE ME BAHUT KAM MILTE HAI, KYOKI GRADUATION KARNE KE BAD YE LOG APNE ROJI ROTI KE LIYE CHOTA MOTA VYAPAR KAR LETE HAI.

    ReplyDelete
  12. JISKE KARAN HAMARE SAMAJ ME LOG KISI BADE PAD PER NAHI JA PATE OR APNE LOGO KO ISSE KISI PRAKAR KA EKANKI LABH YA HELP NAHI MIL PATA HAI.
    OTHER CAST ME : POLICE & CIVIL SERVICES, HOSPITAL & MEDICINAL & TECHNICAL FIELD ME INKE CAST KE LOGO HONE PER YE CAST APNE CAST KO DIRECTLY OR INDIRECTLY HELP OR BENEFIT MIL JATA HAI. JISSE KI ADMI HAMESA AKE KA SOCHTA HAI OR SUCCESS KARTA HAI.
    OR BAD ME HAM YE KAH KAR BATH JATE HAI KI, HAMARE SAMAJ KA KOI ADMI POCICE ME HOTA TO YE KAM HO JATA, HAMARE SAMAJ KA NETA HOTA TO HAME YE TENDER MIL JATA, YE NOKRI MIL JATA, AISA KAH KAR HUM APNE DIL KO MAR LETE HAI.
    YE BAHANA KAB TAK CHALEGA OR KAB TAK EKDUSRE KO YE KAHEGE KO HELP KI NAZAR SE DEKTE RAHENGE.
    EK KAHAWAT HAI "JO APNI MADAD SWAYAM KARTA HAI BHAGWAN BHI USKI MADAD KARTA HAI".
    ISLIYE KISI KE ANSRE MATH BETHO OR AGAR HUM APNA VIKASH KARTE HAI, TO SWAMAJ APNE APP HI VIKSIT HO JAYEGA.

    ReplyDelete
  13. Ye bat to 100% such hai ki baniya ka bacha kabhi bhi bhukha nhi rah sakta bhikh nahi mang sakta

    ReplyDelete
  14. One of the greatest example is mourya rule, one of the best rulers in India. Vania nama/baniya nama ki guidelines se all bania/vania vysya doing business. There is no cheats. We are the people very exemplary in all manners. Really i am proud to be a bania/Vaniya vysya.

    ReplyDelete

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।