Tuesday, March 6, 2018

Sanjay Leela Bhansali



संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) एक फिल्म निर्देशक , निर्माता और संगीत निर्देशक है | इंडियन सिनेमा में कई फिल्मो में जादू बिखेरा है जिसके कारण उन्होंने अब तक दस फिल्मफेयर अवार्ड और चार राष्ट्रीय फिल्म अवार्ड मिल चुके है | 2015 में उन्हें भारत के चौथे सबसे बड़े अवार्ड पद्मश्रीसे सम्मानित किया गया | संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) का जन्म 24 फरवरी 1963 को मुम्बई की एक गुजराती वैश्य परिवार में हुआ था | उन्हें पिता नवीन भंसाली भी एक फिल्म निर्देशक थे | माता का नाम लीला भंसाली था | भंसाली के पिता को शराब की लत थी जिसकी वजह से उनकी मौत हो गयी | भंसाली के एक बहन बेला सहगल है | भंसाली अविवाहित है |

भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने अपने करियर की शुरुवात विधु विनोद चोपड़ा के साथ बतौर सहायक शुरू की थी जब वो परिंदा , 1942 लव स्टोरी और करीब फिल्म बना रहे थे | हालांकि उनका साथ उस समय टूट गया जब भंसाली ने करीब फिल्म का निर्देशन करने से मना कर दिया | 1996 में “खामोशी-द म्यूजिकल” फिल्म से निर्देशन की शुरुवात की | हालांकि यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नही रही लेकिन इस फिल्म को सराहना काफी मिली | इसके बाद “हम दिल दे चुके सनम” फिल्म ने उनको रातो-रात के जाना माना निर्देशक बना दिया जो बॉक्स ऑफिस पर भी काफी हिट रही | इस फिल्म में चार नेशनल अवार्ड और नौ फिल्मफेयर अवार्ड जीते थे |

2002 में शाहरुख ,ऐश्वर्या और माधुरी को लेकर उन्होंने शरतचंद के उपन्यास पर आधारित फिल्म देवदास बनाई | जो बॉक्स ऑफिस पर इतनी सफल रही कि इसे फिल्मफेयर में सबसे ज्यादा अवार्ड पाने का खिताब प्राप्त है जो DDLJ के बराबर भी है | इसके बाद 2005 में भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने अमिताभ बच्चन और रानी मुखर्जी को लेकर Black फिल्म बनाई जिसके लिए उनको जीवन का दूसरा नेशनल अवार्ड मिला | 2007 में उन्होंने रणवीर कपूर को लेकर साँवरिया फिल्म बनाई . जो बॉक्स ऑफिस पर तो फ्लॉप रही लेकिन रणवीर कपूर का करियर सँवार दिया | 2010 में ऋतिक रोशन और ऐश्वर्या को लेकर गुजारिश फिल्म बनाई और इसी फिल्म से उन्होंने म्यूजिक डायरेक्शन में भी कदम रखा | ये फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर नही चली लेकिन फिल्म को सराहना काफी मिली |

2012 में अक्षय कुमार की फिल्म राउडी राठोड के निर्माता बने जिसका निर्देशन प्रभु देवा ने किया था | इसी साल वो एक फ्लॉप फिल्म शिरीं फरहाद की निकल पड़ी के निर्माता बने | 2013 में रोमियो और जूलियट पर आधारित “गोलियों की रासलीला -रामलीला” फिल्म का निर्देशन किया | ये उनकी पहली फिल्म थी जिसका कुछ धार्मिक दलों ने विरोध किया था जिसके बाद तो उनकी हर फिल्म धार्मिक मुद्दे पर उलझी है | पहले इस फिल्म का टाइटल केवल रामलीला था जिसे विवाद के चलते “गोलिया की रासलीला -रामलीला” करना पड़ा | रणवीर सिंह के साथ उनकी यह पहली फिल्म थी | ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही और रणवीर सिंह स्टार बन गये | इसी साल भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने टीवी पर “सरस्वतीचंद्र” शो के जरिये डेब्यू किया था जो कुछ एपिसोड के बाद उन्होंने छोड़ दिया था |

2013 में मैरीकॉम फिल्म के प्रोडूसर बने जिसके लिए उन्हें एक ओर नेशनल अवार्ड मिला था | 2015 में गब्बर इस बेक के निर्माता बने | 2015 में उनका ड्रीम प्रोजेक्ट “बाजीराव मस्तानी” फिल्म आइये | इस फिल्म का विचार उनके दिमाग में 2003 से था लेकिन अनंत: रणवीर सिंह को इस महान किरदार को निभाने का मौका मिला | मस्तानी का किरदार दीपिका पादुकोण ने जबकि काशी बाई का किरदार प्रियंका चोपड़ा ने निभाया था | इस फिल्म का भी बाजीराव और मस्ताने के वंशजो में विरोध किया था लेकिन कोई नतीजा नही निकला | विवाद के बावजूद ये फिल्म भारतीय इतिहास की सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्मो में से एक बनी | इस फिल्म को सात फिल्मफेयर अवार्ड और भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) को बेस्ट डायरेक्टर का नेशनल अवार्ड मिला |
साभार: biographyhindi.com/algo.html
















1 comment:

  1. bhansali ji kya apna god shiva per film banane ka socha hai.

    ReplyDelete

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।