Thursday, January 18, 2018

YOSHA GUPTA - योषा गुप्ता - एक सफल उद्यमी

वर्ल्ड बैंक की नौकरी छोड़ एक साधारण आइडिया से करोड़ों का साम्राज्य बनाने वाली अलीगढ़ की योशा

देश के बड़े शहरों में बड़ी-बड़ी घटनाओं का होना शहरी लोगों के लिए एक आम बात है लेकिन देश के छोटे से शहर से निकल कर विदेशों में और फिर अपने देश में यदि सफलता का डंका किसी भारतीय लड़की द्वारा बजाया जाए तो यकीनन यह बड़े ही गौरव की बात है।


भारत के छोटे से शहर अलीगढ़ में जन्मी योशा गुप्ता ने 16 वर्ष अलीगढ़ में ही गुजारे। उनके पिता अलीगढ़ में महिलाओं का सबसे बड़ा कॉलेज चलाते हैं। पिता के व्यापार में आते उतार-चढ़ावों को योशा ने हमेशा बेहद करीब से देखा और समझने की कोशिश की। वर्ल्ड बैंक में सलाहकार के रूप में काम करते हुए योशा को वियतनाम, इंडोनेशिया, म्यांमार, फिलीपींस और चाइना जैसे देशों में कृषि और मोबाइल बैंकिंग से संबंधित कार्य करने का अवसर मिला। इस दौरान उन्होंने मोबाइल बैंकिंग के क्षेत्र में अपार संभावनाओं को महसूस किया।

इधर भारत में भी हाल ही में शुरू हुए स्टार्टअप कार्यक्रम की भावी सफलता के प्रति योशा आश्वस्त थी। बस फिर क्या था उसने निर्णय लिया एक नए स्टार्टअप का जहां एक ही मंच पर मूल्य चयन, कैशबैक, बैंकों द्वारा अवसर प्रदान करने वाली वेबसाइट एवं इनामी अंक देने वाली वेबसाइट को एक बहुत बड़े सेविंग प्लेटफार्म के रूप में पेश करेंगी। अपने 10 वर्ष के अनुभव को योशा ने अपने नए स्टार्टअप लाफालाफा डॉट कॉम पर पूरी तरह से लागू किया। यह अनूठा प्लेटफार्म ग्राहकों को कैशबैक एवं डिस्काउंट कूपन प्रदान करता है जिसे ग्राहक मनी ट्रांसफर, मोबाइल रिचार्ज, शॉपिंग वाउचर के रूप में प्राप्त कर सकते हैं। लाफालाफा के शुरू होने के 7 महीनों के अंदर ही चार लाख से ज्यादा लोगों ने यह ऐप डाउनलोड कर इसके द्वारा लाभ कमाया। सिलिकॉन वैली के शीर्ष 500 स्टार्ट-अप में अपनी जगह बनाने वाली लाफालाफा की अकेली संस्थापक योशा गुप्‍ता हैं जो हांगकांग से भारत में काम कर रहे 17 लोगों की टीम के साथ तालमेल बनाए रखती है।

भीषण चुनौतियों का सामना करके सफल व्यापार को स्थापित करने वाली योशा का मानना है कि बाजार में अपने व्यापारिक क्षेत्र में यदि आपके प्रतियोगी ज्यादा भी हो तों आप अपनी गुणवत्ता से स्वयं को बेहतर साबित करके सबसे आगे निकल सकते हैं। योशा भारत ही नहीं विदेशों में भी अपने व्‍यापार को बढ़ाने की योजना पर काम कर रही हैं। विशेष तौर पर उन देशों में जहां वह पहले काम कर चुकी है क्योंकि ऐसा करके उनका अनुभव एवं अच्छे संबंध उनके व्यापार को वहां विस्तार प्रदान करेंगे। लाफालाफा एप को प्रत्येक a एंड्राइड फोन पर देखना योशा का सपना है। इसके लिए सुबह 7 बजे से योजनाबद्ध तरीके से वह अपनी दिनचर्या शुरू करके अपनी सहयोगी टीम और ग्राहकों से संपर्क बनाए रखती हैं।

अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से योशा अपनी सफलता का राज बड़े ही सुंदर शब्दों में बांटती है ‘’जो आप करना चाहते हैं उसे मन से करें। वही लोग अपने जीवन में सफल हो पाते हैं जो गर्व की अनुभूति के साथ अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आगे बढ़ते हैं। नि:संदेह ऐसे लोगों की सफलता का रास्ता कोई वस्तु नहीं रोक सकती’’।

साभार: 
hindi.kenfolios.com/journey-from-aligarh-to-silicon-valleys-hottest-startup-incubator/

by Meghna GoelJanuary 15, 2018

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।