Tuesday, July 16, 2019

उत्तर प्रदेश का गौरव अग्रवाल समाज


Image may contain: 7 people, people smiling, text

उत्तर प्रदेश जो जनसंख्या के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा सूबा है उसके उत्थान में अग्रवालों का योगदान। उत्तर प्रदेश से अग्रवाल समाज का गहरा संबंध है। महाराज अग्रसेन का जन्म काशी विश्वनाथ के आशीर्वाद से हुआ था। महाभारत युद्ध में उन्हें श्री कृष्ण ने भारत वर्ष के पुनरुत्थान का आशीर्वाद दिया था। गुप्त वंश जो धारण गोत्रीय अग्रवाल था उसकी राजधानी पश्चिम उत्तर प्रदेश थी। उत्तर प्रदेश में राजनीति, लेखक, पत्रकार, बुद्धिजीवी, धर्म, उद्योग समाजसेवा लगभग हर क्षेत्र में अग्रवालों का अग्रणी स्थान रहा है । UP के अग्रवालों ने देश और अग्रवाल समाज को कई नगीने दिए हैं। उत्तर प्रदेश को इन्होंने अपने ज्ञान, बुद्धि और मेहनत से सींचा है। कुछ प्रमुख अग्रवाल नाम और घराने जिनकी जन्मभूमि/कर्मभूमि/ मूलभूमि उत्तर प्रदेश थी -

धर्म -

★ गोरखपुर जिले में दो अग्रवालों घनश्याम दास जालान और जयदयाल गोयनका ने हिंदुओं की सबसे बड़ी धार्मिक प्रेस गीता प्रेस गोरखपुर की स्थापना की थी।

★विहिप के पूर्व अध्यक्ष श्री अशोक सिंघल जी जिन्होंने राम जन्मभूमि के लिए सबसे बड़ा आंदोलन खड़ा किया और रामलला के लिए चोटिल हुए वो आगरा उत्तर प्रदेश से थे।

★ प्रसिद्ध पर्यावरणविद्य व iit के पूर्व प्रोफेसर ज्ञान स्वरूप सानंद(GD Aggarwal) उत्तर प्रदेश से थे। जिन्होंने माँ गंगा की निर्मलता और शुद्धता के लिए अपने प्राण त्याग दिए।

★अग्रवाल जैन मुग़ल कालीन आगरा के साहू टोडर ने 500 से अधिक जैन स्तूपों का निर्माण किया था।

★सिंघानिया परिवार ने कानपुर में भव्य JK मंदिर का निर्माण किया था ।

★ शिव प्रसाद गुप्त ने काशी का मशहूर भारत माता मंदिर का निर्माण किया था।

उद्योग पति व मीडिया घराने-

★ साहू जैन परिवार - देश की सबसे बड़ी मीडिया कंपनी The Times Group की मालिक । ये अग्रवाल जैन परिवार से हैं । यह मूलरूप से उत्तर प्रदेश के बिजनोर से हैं।

★ सिंघानिया परिवार - देश के सबसे बड़े आद्योगिक घराने में से एक सिंघानिया परिवार का मूल उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है।

★बड़े हिंदी समाचार पत्र - दैनिक भास्कर के फाउंडर रमेश चंद्र अग्रवाल का जन्म झांसी, उत्तर प्रदेश में हुआ था व दैनिक जागरण के फाउंडर पुराण चंद गुप्ता का जन्म कालपी, उत्तर प्रदेश में हुआ था।

★ अमित अग्रवाल - देश का टॉप ब्लॉगर; ये उत्तर प्रदेश के आगरा शहर से है।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश की अनेक यूनिवर्सिटी, इंडस्ट्री आदि के मालिक अग्रवाल हैं।

उत्तर प्रदेश की राजनीती - राजनीति में उत्तर प्रदेश के अग्रवालों का अग्रणी स्थान रहा है। उत्तर प्रदेश ने तीन अग्रवाल मुख्यमंत्री(चंद्र भानु गुप्ता, बाबू बनारसी दास, राम प्रकाश गुप्त) दिए हैं। जिन्होंने प्रदेश के विकास में अग्रणी भूमिका निभाई है। डॉ राम मनोहर लोहिया जिन्हें अग्रवालों का नवरत्न कहा जाता है वो भी उत्तम प्रदेश से थे। उनके नाम पर लखनऊ में एक पार्क और हॉस्पिटल है। उत्तर प्रदेश के वर्तमान वित्त मंत्री भी अग्रवाल समाज से आते हैं । उत्तर प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं अग्रवालों की कुलभूमि अग्रोहा होकर आये हैं ।

लेखक -

आधुनिक हिंदी के जनक कहे जाने वाले भारतेंदु हरिश्चन्द्र का जन्म काशी में हुआ था। इन्होंने ही हिंदी में नाटक विधा की शुरुवात की थी। पद्मश्री काका हाथरसी का असली नाम प्रभुदयाल गर्ग था। इनका जन्म हाथरस में हुआ था। इन्हें हास्य सम्राट कहा जाता है। प्रसिद्ध लेखक बाबू गुलाबराय भी उत्तर प्रदेश के अग्रवाल समाज से हैं।

अग्रवाल नवरत्न - विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय 9 अग्रवालों को अग्रवाल नवरत्नों का दर्जा हासिल है। अग्रवालों के 9 में से 5 अग्रवाल नवरत्न की जन्मभूमि या कर्म भूमि उत्तर प्रदेश है । जिनमे शुमार हैं - राम मनोहर लोहिया(भारतीय समाजवाद को दिशा दिखाने वाले), डॉ भगवान दास(भारत रत्न), भारतेंदु हरिश्चन्द्र(आधुनिक हिंदी साहित्य के जनक), शिव प्रसाद गुप्त(काशी विद्यापीठ के जनक), हनुमान प्रसाद पोद्दार(गीताप्रेस के जनक)।

अग्रवालों के इतिहास लेखन- अग्रवालों का सर्वप्रथम इतिहास भारतेंदु हरिश्चन्द्र ने अग्रवालों की उत्पत्ति के नाम से लिखा था । महालक्ष्मी व्रत कथा का खोज भी इन्होंने ही किया था । अग्रवालों पे इतिहास पे ऐतिहासिक ग्रंथ अग्रसेन अग्रोहा अग्रवाल लिखने वालीं स्वराज्यमानी अग्रवाल जी का जन्म उत्तर प्रदेश के प्रयाग में हुआ था।

साभार: Prakhar Agrawal, अग्रवाल चिंतक, राष्ट्रीय अग्रवाल महासभा

No comments:

Post a Comment

हमारा वैश्य समाज के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।